Suchna Lekhan in Hindi | Notice Writing | उदाहरण

नमस्कार दोस्तों आज उनको बताएंगे कि Suchna Lekhan in Hindi और रिपोर्ट आप कैसे लिख सकते हैं वह भी काफी आसानी से आज हम इस लेख में सोचना क्या होती है सूचना और समाचार में क्या अंतर होता है और श्रेष्ठ सूचना के गुण क्या होते हैं और हम आपको काफी सारे उदाहरण में जाएंगे की सूचना कैसे लिखते हैं यदि आपके एग्जाम में सूचना आया रिपोर्ट आती है तो आप काफी आसानी से लिख सकते हैं हमने काफी सारे उदाहरण दिए हैं नीचे इसकी मदद से आप काफी आसानी से सूचना लिख सकेंगे वह भी बिना किसी परेशानी के

आज के समय में हिंदी का व्याकरण है किसी व्यक्ति को आना चाहिए उसी में से एक होता है सूचना ज्यादातर यह बारहवीं कक्षा के छात्रों को उनके एग्जाम में आता है हमने अपनी सारी कोशिश करके आपको सूचना दी है Noticeजैसे कि रिपोर्ट क्या होती है और उसके उदाहरण यदि आपके एग्जाम में इस तरह का कोई भी प्रश्न आते हैं तो आप काफी आसानी से कर सकेगे। 

सूचना (रिपोर्ट) क्या होती है

सूचना के आदान-प्रदान की एक अन्य दिया है रिपोर्टिगया। इसे हिंदी में प्रतिवेदन कहते हैं। इसमें किसी संजन की जानकारी दी जाती है। रिपार्ट का उद्देश्य किसी संस्था के सदस्यों को के की जानकारी देना होता है। प्राय: बड़ी-बड़ी अनियों अपने को वर्ष वा छ मासिक अपना प्रतिववरण भेजी है।

सूचना और समाचार मे अंतर

सूचना और समाचार मे अंतर – रिपार्ट समाचार के लिए कच्चा माल होती है। समाचार लेखक रिपोर्ट के आधार पर तैयार करता है। रिपोर्ट का संस्य जहाँ तथ्य की जानकारी देना होता है, वहीं समाचार का लक्ष्य उस सबंदूर अपने पाठकों तक पहुंचाना होता है। इसके लिए उसे ध्यानाकर्षक पनाना होता है। प्रमुख को सबसे पहले देना होता है ताकि पाठकों की कधि बढ़े। रिपोर्ट में सभी तब्य सामान्य जानकारी के रूप में जाते हैं व में रिपोर्ट और समाचार में कच्चे और तैयार माल का अंतर होता है।

श्रेष्ठ रिपोर्ट और सूचना के गुण

  •  रिपोर्ट में तंब्या की जानकारी पूरी तरह स्पष्ट सटीक और प्रामाणिक होनी चाहिए। रिपोर्ट में निम्नलिखित जानकारियों अवश्य होनी चाहिए

  • संस्था का नाम

  • अध्यक्ष आदि पदाधिकारियों के नाम

  • गतिविधियाँ चलाने वालों के नाम कार्यक्रम का उद्देश्य आयोजन स्थल, दिनांक, पार, समय उपस्थित लोगों की जानकारी

  • दिए गए भाषणों के प्रमुख अंशी का विवरण लिए गए निर्णयों की जानकारी

  • रिपोर्ट की भाषा साहित्यिक या आतंकारिक नहीं, सूचनात्मक होनी चाहिए। उसमें अलंकारों या मुहावरों का प्रयोग नहीं होना चाहिए।

  • रिपोर्ट में में’ या ‘हम’ जैसे प्रथम पुरुष वाक्य न होकर अन्य पुरुष की रिपोर्ट में संक्षिप्तता और क्रमिकता का पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए।

  • प्रत्येक नई बात नए अनुच्छेद से आरंभ करनी चाहिए।

  • अंत में प्रतिवेदक के हस्ताक्षर होने चाहिए।

सूचना (रिपोर्ट) के उदाहरण हिंदी

काव्य-गोष्ठी संपन्न

12-12-2020

जे.के. जैन स्कूल, इंदौर में एक काव्य-गोष्टी का आयोजन किया गया। विद्यालय के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के प्रभारी श्री मंगलेश जैन ने इसका आयोजन किया। विद्यालय के विशाल भवन में 2000 छात्रों और 120 अध्यापकों के मध्य हुए इसे कवि-सम्मेलन में दूर-दूर से आए कवियों ने काव्य रचनाएँ पड़ी।

कार्यक्रम सरस्वती वंदना से शुरू हुआ। पहले मथस्य कवियों ने दीप प्रज्वलन किया। श्री मंगलेश जन ने सभी वियों का परिचय कराया। फिर विद्यालय के दो छात्रों ने अपनी रचनाएँ पढ़ी ग्यारहवीं के छात्र विमलेश की कविता अजन्मा बच्चों के प्रति बहुत सराही गई। तत्पश्चात् दिल्ली से पधारे श्री राजेश चेतन ने मंच संभाला। उन्होंने सर्वप्रथम सोनीपत से पधारे अशाक बत्रा को काव्य पाठ के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने 30 मिनट तक हास्य रस की रचनाएँ प्रस्तुत की। उन्हें सुनकर उपस्थित जन शुरू होलोटपोट हो गए। उन्होंने अपनी कविताओं में बढ़ते गपन, आतंकवाद और भ्रष्टाचार पर व्यंग्य किए। तत्पश्चात् गजेंद्र सोलंकी ने सम्बर वीर रस के कवित्त सुनाए। उनकी सुरीली और जोशीली कविताओं को सुनकर सभी ने तालियों से साथ दिया उन पाकिस्तान और मुशर्रफ को खूब खरी-खोटी सुनाई। राजेश चेतन बीच-बीच में स्यको फुल छोड़कर कार मनोरंजन करते रहे। अर्जुन सिसीदिया ने भी देशभक्ति का स्वर लहराकर नवयुवकों में देशप्रेम का जोश भर दिया। अंत में आए लकेश अग्रवाल जो ने मोदी-मधुर प्रेम कविताओं का पाठ किया। कार्यक्रम के अंत में सभी कवियों को स्मृति चित प्रदान किए गए। 21.आपके नगर में स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। उस पर एक प्रतिवेदन प्रस्तुत कीजिए।

स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से संपन्न

चंडीगढ़,15 अगस्त,2021

15 अगस्त, 2011 को भारत का अहसठ स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम से संपन्न हुआ। पंकी में आयोजित इस भव्य समारोह में हरियाणा के मुख्यमंत्री, पंजाब की उप-मुख्यमंत्री अन्य पुलिस अधिकारी कार स्कूली बच्चे, कॉलेज-विद्यार्थी तथा कलाकार उपस्थित थे। सुबह 8.00 बजे मुख्य अतिथि पहना। उपस्थित सभा ने तालियां बजाई ‘वदेमातरम्’ गाया गया। हजारों बच्चों ने इसके स्वर में स्वर मिलाया पश्चात् एस सौ.सी. के फेडिट्स ने मार्च पास्ट किया। स्काउट के लड़कों ने परेड की। पुलिस के जवानों ने भी करतय दिखाए। फिर एक घंटे तक निषिध कार्यक्रम चलते रहे। क्राविकारियों की याद दिलाने वाली अनेक ऑफिया निकाली गई। किसी विद्यालय ने रोमाचक कारनामे दिखाए तो किसी ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुत किए। अंत में पंजाब की उप मुख्यमंत्री तथा हरियाणा के मुख्यमंत्री ने भाषण दिया। उन्होंने और बलिदान की भावना जगाने और देश के लिए मर-मिटने की प्रेरणा दी। अंत में सभी को वितरित किया गया।

हिंदी-अध्यापक श्री नटराज सेवानिवृत्त


चंडीगढ़,15 अगस्त,2021

आजहंदीश्री नंदराज 38 वर्षों की लंबी सेवा के हो गए। उनके सम्मान में विद्यालय की ओर से विदाई समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम में सभी अध्यापक तथा अन्य की उपस्थित थे। मार्यश्री कृष्ण कुमार कौशिक ने भी नटराज का विस्तृत परिचय दिया। तत्पश्चात् हिंदी विभाग के दो अध्यापकों श्रीमदतथा श्रीमती सोनिया ने श्री नटराज के गुण गए। उन्होंने श्री नटराज की प्रतिभागंभीरता और कार्य की विज्ञान के अध्यापक श्री विनय राय में उन्हें विद्यालय के सबसे गतिशील लोगों में से एक कहा प्राचार्य महोदय ने कहा कि श्री नटराज बहुत अच्छे अध्यापक रहे हैं। ये छात्रों में बहुत लोकप्रिय है। सबसे अच्छी बात यह है कि ये बहुत भल इनसान है। उनका स्वभाव मधुर है। वे रहे है। विद्यालय हमेशा उनकी कमी अनुभव करेगा।

श्री नटराज अंत में बोले समय हो उठे। उन्होंने दोबारों में कहा कि ये जो कुछ भी है, इसी विद्यालय के बल पर है। यह विद्यालय साथी तथा सदा उनके मन में होंगे जब भी विद्यालय उन्हें याद करेगा, वे सिर के बल दोड़े चले आएंगे। विद्यालय परिवार की ओर से उन्हें एक अदेवी तथा एक दुशाला भेट किया गया। कार्यक्रम के अंत में भोजन का प्रबंध था।

पर्यावरण पर गोष्टी(conference) 

13-5-2021

दिनांक 12-3-2011 को जी.एल.टी. बाल मंदिर श्रीहरिकोटा में पर्यावरण पर एक गोष्टी का आयोजन हुआ। इसमें विद्यालय के सभी बच्चों तथा अध्यापकों ने भाग लिया। प्रांत के वन अधिकारी श्री सोमदत्त राय ने सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा करतो जरूरत से अधिक जन-संकुल हो गई है। विशेषकर भारत में आबादी का दबाव बहुत अधिक बढ़ गया है। संसाधनों कमी के कारण प्रक्ष और पहाड़ काटे जा रहे हैं। नदियाँ प्रदूषित हो हो है। कचरा बहुत अधिक हो गया है। ऊर्जा का अत्यधिक उपयोग किया जा रहा है जिसके कारण मन में धारण वृद्धि हो रही है। ऐसे समय में पका संतुलन बनाना बहुत है। बच्चों को चाहिए कि वे यासंभव हरियाली को बढ़ावा दे प्लास्टिक के उपयोग को बंद करें लगाएं पर्यावरण कहिचाने वाले सामान के उपयोग से बचें।

आपके विद्यालय के कक्षा ग्यारह के विद्यार्थियों ने बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को विदाई दी। इस कार्यक्रम पर एक प्रतिवेदन तैयार कीजिए।

बारहवीं के छात्रों की विदाई

12 फरवरी, 2020

12 फरवरी, 2020 को विद्यालय के ग्याहरवीं कक्षा के विद्यार्थियों ने बारहवीं कक्षा के वरिष्ठ विद्यार्थियों के लिए विदाई समारोह आयोजित किया। यह समारोह बड़े सीधे-सादे किंतु भव्य वातावरण में संपन्न हुआ। विद्यालय में एक पंडाल लगाया गया। इसमें नीचे गलीचे बिछाए गए थे। ऊपर सफेद चाँदनी बिछी थी। मंच पर कुर्सियाँ थीं। नीचे भी पचास कुर्सियाँ पंडाल के बाहरी किनारों पर सुशोभित थीं। सभी विद्यार्थी नीचे बैठे। ग्यारहवीं कक्षा के विद्यार्थी एक ओर तो बारहवीं कक्षा के विद्यार्थी दूसरी ओर बैठे। अध्यापक कुर्सियों पर बैठे। मंच पर प्राचार्य, उप-प्राचार्य तथा सभी विभागाध्यक्ष सुशोभित थे।

कार्यक्रम का संचालन ग्यारहवीं कक्षा के छात्र गुरमीत तथा छात्रा सुनीता ने किया। पहले ग्यारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के एक दल ने बारहवीं के सभी विद्यार्थियों के माथे पर टीका लगाया। उसके बाद ग्यारहवीं कक्षा के छात्र-छात्राओं ने गीत, नृत्य और चुटकलों के मनोरंजक कार्यक्रम पेश किए। बाद में बारहवीं कक्षा के छात्र-छात्राओं ने गुरु महिमा पर दोहे सुनाए तथा ग्यारहवीं के विद्यार्थियों के लिए सद्भावना-भरे वचन कहे। ग्यारहवीं कक्षा के छात्र महेश नांदल ने अपने वरिष्ठ छात्रों का धन्यवाद किया।

अंत में प्राचार्य महोदय ने बारहवीं कक्षा के छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों को भव्य कार्यक्रम के आयोजन के लिए साधुवाद दिया। कार्यक्रम के पश्चात् सभी के लिए मिठाई और जलपान की व्यवस्था थी। जलपान के पश्चात् विभिन्न कक्षाओं ने सामूहिक फोटो खिंचवाए।

Suchna Lekhan in Hindi
Suchna Lekhan in Hindi

Leave a Comment

सर्दी जुकाम की एंटीबायोटिक दवा टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है और खर्च कितना आता है Low Carb Indian Diet For Beginners चेहरा साफ करने वाली क्रीम का नाम हार्मोन की कमी से क्या होता है